शनिवार, 26 सितंबर 2020

होखत दर्शनवा#श्याम कुँवर भारती (राजभर )

भोजपुरी देवी गीत – होखत दर्शनवा |
मह मह महकत बा भवनवा |
कालिका जी के होखत दरशनवा|
सोनवा से साजल माई दरबार बा |
तोहरे खातिर छोड़ली घरबार बा | 
बलका रोई बरसत बा नयनवा |  
कालिका जी के होखत दरशनवा|
मह मह महके गरवा लाल अड़हुलवा |
चम चम चमके हथवा माई त्रिशूलवा |
जय जय जैकार गुंजत बा गगनवा |
कालिका जी के होखत दरशनवा|
लह लह  लहके माइके चुनरिया |
चह चह चहके मेहँदी अंजोरिया |
झूमी भगता नाचत बा  मगनवा |
कालिका जी के होखत दरशनवा|
माई के चरनिया सिर मथवा लगाई|
गाई गीतिया भारती मईया मनाई | 
नाची नाची लोगवा गावत बा भजनवा |   
कालिका जी के होखत दरशनवा |

श्याम कुँवर भारती (राजभर )
कवि/लेखक /समाजसेवी 
बोकारो झारखंड।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें