गुरुवार, 24 सितंबर 2020

घीया खाओ, सेहत बनाओ#शशिलता पाण्डेय जी द्वारा#

********************
🌹घीया खाओ, सेहत बनाओ🌹
**************************
अपनी एक सेहत,हजार नेमत,
घीया खाओ,सेहत बनाओ।
डायबिटीज,रक्तचाप, से मुक्त,
उम्र की अनुभूतियां सुखद बनाओ।
रोगों से कर लो दो-दो हाथ,
दुष्कर जीवन सरल बनाओ।
तन स्वास्थ्य दे मन भी साथ,
जीवन सुन्दर संगीत बनाओ।
जिन्दगी जिन्दादिली की बात,
मुर्दा- दिली से खुद बाहर आओ।
स्वास्थ्य तन की सुंदर सौगात,
घीया खाओ, सेहत बनाओ।
प्रकृति सम्पदा की अलग बिसात,
स्वास्थ्य-जीवन, खुशियां सजाओ।
सेहतमंद को लगती सुखद हर रात,
उदर-विकार सब दूर भगाओ।
जीवन में नही खाते किसी से मात,
घीया खाओ, सेहत बनाओ।
हर दिन उत्सव- त्योहार आयोजित,
योगासन को भी सरल बनाओ।
स्वास्थ्य-तन की मूल्यवान हर बात,
वृद्धतन को भी प्रसन्नचित बनाओ।
करता घीया,शारीरिक वजन नियंत्रित,
जन-जन में संदेश पहुँचाओ।
 साथ-साथ होगी जनकल्याण की बात,
घीया खाओ, सेहत बनाओ।
हर स्थान पर करना ये संदेश प्रसारित,
सेहतमंद अभियान सफल बनाओ।
*******************************
स्वरचित और मौलिक
सर्वधिकार सुरक्षित
कवयित्री:-शशिलता पाण्डेय

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें