रविवार, 18 अक्तूबर 2020

कवयित्री सविता मिश्रा जी द्वारा रचना “हमारे देश के नेता"

मंच नमन 
बदलाव मंच (राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय मंच) 
दिनांक - 18-10-2020 
दिन - रविवार 
विषय - मतदाता जागरूकता 
शीर्षक - हमारे देश के नेता

वादे बड़े- बड़े करे, 
उसमें से कुछ भी न करे l 
है नेता हमारे देश के l1l

सारी नौकरियों में आयु सीमा है, सभी के लिए l
कोई आयु सीमा नहीं है जिसके लिए l
है नेता हमारे देश के l2l

कानून भी है जिनकी मुट्ठी में, 
जिससे खूब अपनी मनमानी करे l
है नेता हमारे देश के l3l

कानून की दशा है दयनीय और निंदनीय, 
है जिसके जिम्मेदार आदरणीय l
है नेता हमारे देश के l4l

चुनाव से पहले जनता सब कुछ, 
चुनाव के बाद स्वयं ही सब कुछ l
है नेता हमारे देश के l5l

पहले नारो को दे, जनता के लिए,
बाद में नारो का उपयोग करे अपने लिए l
है नेता हमारे देश के l6l

कथनी और करनी में भी रहे फर्क,
जनता को दे बड़े बड़े तर्क l
है नेता हमारे देश के l7l

धनी वर्ग से दान लेकर, निम्न वर्ग को भी सहयोग न करे, 
मध्यम वर्ग की जनता अपने हाल पर रोये l
है नेता हमारे देश के l8l

मेरे देशवासियों रहना सावधान, जाओ जब  करने मतदान, 
मत देना वोट अनमोल अपना l  
देश के ऐसे नेता को....l9l

करना मतदान समझदारी से, 
देना अपना वोट जन सेवक को l 
 जनता के हित के लिए काम जो करे l10l

रचनाकार का नाम - सविता मिश्रा 
(शिक्षिका, समाजसेविका और कवियत्री ) 
वाराणसी, उत्तर प्रदेश 
स्वरचित और मौलिक रचना

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें