रविवार, 3 जनवरी 2021

कवि नारायण प्रसाद द्वारा 'काश! नया साल आप सब को रास आये' विषय पर रचना

बदलाव मंच अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय

काश! नया साल आप सब को रास आये

काश! नया  साल आप सब को रास आये। 
देश के काम में आपका हर एक साँस आये।

इस साल मानव को मानव पर विश्वास आये।
हे प्रभु! सभी की वाणी में मिठास आये।

कोई भी बीमारी आप सब के न पास आये।
ज़िंदगी में कभी आप सब के न हरास आये।
 
सफलताओं के बीच न कोई  अवकाश आये।
जहाँ  अंधेरे है वहाँ भी प्रकाश आये।

आप सभी के व्यक्तित्व में विकास आये ।
आप सभी  के चेहरे में उजास आये।

इस नये साल में नया-नया आस आये।
आप सब से मिलने आपका कोई खास आये।

जिससे नई उमंग ,ताजग़ी नया एहसास आये।
काश!नया साल आप सब को रास आये।

 नारायण प्रसाद 
ग्राम -आगेसरा(अरकार)
जिला-दुर्ग,छत्तीसगढ़
(मौलिक एवं स्वरचित रचना)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें