रविवार, 3 जनवरी 2021

डॉ. रेखा मंडलोई ' गंगा' इंदौर जी द्वारा खूबसूरत रचना#

' मंगलकामनाओं का आभार'
हिन्दू - धर्म की पहचान बढ़ाएं,
गुड़ी पड़वा पर ही नववर्ष मनाएं।
देश - धर्म और संस्कृति अपनाएं,
विक्रम संवत का भी महत्व बढ़ाए।
हिन्दू हैं हम तो हिन्दुस्तान बचाएं,
समय व्यर्थ यूं ही बीत न जाए ।
सुख समृद्धि पाने का प्रयास बढ़ाएं,
सतत उन्नति के पथ पर बढ़ते जाएं।
ऐसे ही आप हमेशा बधाइयां पाए,
आपकी खुशी में ही हम खुश हो जाए।
ऐसे अवसर जीवन में बार बार आए,
प्रकृति भी यह मंगल गान सुनाएं।
नव वर्ष का आप अभिनन्दन कर पाएं,
 याद करे यूं ही खुशी के दिन जब आए।
हम भी आपको ऐसे ही बधाइयां दे पाए
आभार दे हम आप संग खुशियां मनाएं।

डॉ. रेखा मंडलोई ' गंगा' इंदौर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें