रविवार, 6 सितंबर 2020

कवयित्री सुधा सेन 'सरिता ' जी द्वारा सुंदर रचना (विषय-राम)

श्रीराम 
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
राम नाम का जप करूँ, निस दिन ध्यान लगाय ।
घेरे जो मन को व्यथा, देते दूर भगाय ।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
अवतारी इस जगत में, पुरुषोत्तम श्री राम ।
नाम जपो श्री राम का, बनते बिगड़े  काम ।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
सच्चे मन से जो जपे, हरते मन का ताप ।
राम नाम का जप किया, गणिका तर गई आप ।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
नाम मधुर श्री राम का,हनुमत करते जाप ।
राम नाम के जाप से, मन के हरते पाप ।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
राम नाम पाहन लिखे, सागर नहीं डुबाय ।
लिखे नाम पाथर सभी, सेतू दिया बनाय ।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
शबरी नामक भीलनी, निस दिन करे पुकार ।
उसके जूठे बेर भी, प्रभु को हैं स्वीकार ।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
राम रूप अवतार में, आये तारनहार ।
निस दिन जो सुमिरन करे, उसका बेड़ा पार ।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
सुधा सेन 'सरिता '

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें