शनिवार, 28 नवंबर 2020

सुखदेव टैलर, निम्बी जोधाँ जी द्वारा खूबसूरत रचना#

गाय द्वार  पर आती  है तो लट्ठ मारते हो
चुनाव में गाय के नाम पर वोट मांगते हो
वहा!  रे  कळयुग का  दिखावटी  मिनख
गोपाष्टमी पर गाय पूजा का ढोंग करते हो।।

जिस  देश  में  गाय  को  माता  मानते  हैं
उस  देश  में   ही   गाय  को    दुत्कारते हैं
दुःख  होता  है  गायों  की  दुर्दशा  देखकर 
सुखदेव थोड़ा थोड़ा दोषी हम सभी ठहरते है।।

     मौलिक रचना
सुखदेव टैलर, निम्बी जोधाँ
     नागौर,  राजस्थान

गाय को पूज नही सकते तो 
कम से कम लट्ठ तो मत मारीए...
गोपाष्टमी की हिवेड़े स्यूँ शुभकामनाएँ है...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें