शनिवार, 3 अप्रैल 2021

निर्मल जैन 'नीर' जी द्वारा 'कैसी है होली' पर खूबसूरत रचना#

कैसी है होली....
*****************
कैसी है होली~
कोरोना की है मार
खाली है झोली
दोस्तों से दूरी~
होली का है त्यौहार
मास्क जरूरी
दुनिया दंग~
कोरोना ने किया है
रंग में भंग
हमें मलाल~
नहीं खेल पायेंगे
रंग गुलाल
कहना मान~
जान है तो जहान
रखना ध्यान
*****************
निर्मल जैन 'नीर'
ऋषभदेव/उदयपुर
राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें