सोमवार, 28 जून 2021

सुधीर श्रीवास्तव जी द्वारा हाइकु पर खूबसूरत रचना#

हाइकु 35
*****
शिक्षा
●●●●
आज की शिक्षा
औपचारिक बनी
संस्कार नहीं।
*****
आधुनिकता
हावी होती जा रही 
ये कैसी शिक्षा।
*****
संस्कार बिन
व्यर्थ हो रही शिक्षा
खतरनाक।
*****
शिक्षा समृद्धि
 तभी बात बनेगी
जरूरत है।
*****
रोजगार भी
जब दे सके शिक्षा
तभी औचित्य।
*****
शिक्षा संयम
संस्कार, रोजगार
तब सफल।
*****
नैतिक शिक्षा
आज की जरूरत
सबको मिले।
*****
ये कैसी शिक्षा
कभी काम न आये
बेमतलब ।
◆ सुधीर श्रीवास्तव
      गोण्डा, उ.प्र.
     
©मौलिक, स्वरचित

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें