गुरुवार, 1 अक्तूबर 2020

कवयित्री अपराजिता कुमारी जी द्वारा रचना

नमक सत्याग्रह ने 
बदल दी 
भारत के इतिहास को
*******************
नमक सत्याग्रह ने
 हिला दी
 ब्रिटिश सरकार की
 नींव को। 
 12 मार्च 1930 गांधी जी ने 
शुरू की यात्रा  
हिलाने ब्रिटिश सरकार
 की नींव को

अहमदाबाद साबरमती से
 पैदल शुरू की, 
यात्रा पहुंची 24 दिनों बाद 
दांडी ग्राम को

78 स्वयंसेवकों के 
साथ शुरू की, यात्रा
358 किलोमीटर दूर दांडी 
पहुंचते हो गई 50 हजार को

सरोजिनी नायडू,वेब मिलर,
अब्बास तैयब जी
और जुड़ गए
 हजारों नमक सत्याग्रह को

6 अप्रैल 1930 को
 पहुंचे गांधी जी दांडी,ग्राम को 
 मुट्ठी भर नमक बनाकर,
 तोडा ब्रिटिश राज के
नमक पर एकाधिकार को

ना हिंसा की,
ना चलाई लाठी , 
न्याय ,अहिंसा,
 सत्य अपनाकर
हिम्मत दे दी स्वतंत्रता 
के आंदोलन को

नमक सत्याग्रह ने
 हिला दी
 ब्रिटिश सरकार की 
नींव को।

सत्य ,अहिंसा त्याग
  की ताकत 
दिखाए ब्रिटिश
 सरकार के शासन को
  नमक सत्याग्रह ने
 रख दी 
आजाद भारत के
  नीव को....... 
                        अपराजिता कुमारी
उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालय
 जिगना जगन्नाथ
 प्रखंड-हथुआ
 गोपालगंज                      *******************

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें